दोस्तों अगर आप एक वेब डेवलपर या वेब डिज़ाइनर है या फिर आप वेब डेवलपमेंट में नए हैं तो आपको यह पता होगा की WebGL क्या है? अगर आपको नहीं पता है WebGL के बारे में तो आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे WebGL के बारे में? और जिन्हे WebGL के बारे में पता है उन्हें भी आज इसके बारे में विस्तार से जानने को मिल सकता है। तो आप बने रहिये मेरे साथ मेरा नाम है ज्ञानेश चौरसिया और आप पढ़ रहे हैं वेबजीएल क्या है (What Is WebGL In Hindi)? तो चलिए शुरू करते हैं।


Content:

  1. WebGL क्या है?
  2. WebGL के बारे में (About WebGL)
  3. WebGL के डिज़ाइन (Design Of WebGL)


WebGL क्या है (What Is WebGL In Hindi)

दोस्तों, WebGL का पूरा नाम (Full Form) Web Graphics Library हैैैै। WebGL एक Javascript की एक API (Application Programming Interface) है, जिससे किसी भी कम्पेटिबल वेब ब्राउज़र के अंदर Interactive 2D और 3D Graphics प्रदान किये जाते हैं। WebGL पूरी तरह से Integrated होता है किसी भी वेब स्टैण्डर्ड के साथ, जिससे Web Page Canavas के पार्ट के रूप में Physical और Imaginary क्रिया के GPU - Acceleration की अनुमति मिलती है। WebGL के Elements को दुसरे किसी भी HTML (Hyper Text Markup Language) Element के साथ मिलाया जा सकता है और Page या Page Background के दूसरे हिस्सों के साथ भी मिलाया जा सकता है। WebGL प्रोग्राम में JavaScript में लिखे गए कुछ कंट्रोल कोड Shader कोड होते हैं जिन्हें OpenGL ES शेडिंग लैंग्वेज (GLSL ES) में लिखा जाता है, जो कि C या C ++ Language के जैसी Programming Language में लिखा जाता है, और जो कंप्यूटर के GPU में Execute होती है। WebGL को Khronos Group द्वारा डिज़ाइन किया गया है और इसे इन्हीं के द्वारा ही Maintaine किया जाता है।
br />

WebGL के बारे में (About WebGL)



  • WebGL Logo

Official Logo Of WebGL


  • Author Or Founder: Mozilla Foundation
  • Developer: Khronos WebGL Working Group
  • Initial Release: March 3, 2011
  • Stable Release: January 17, 2017 (2.0)
  • Platform: Cross Platform
  • Available Language: English
  • Type: API (Application Programming Interface)
  • Official Website: https://www.khronos.org/webgl/

WebGL के डिज़ाइन (Design Of WebGL)

अगर हम बात करे WebGL के version 1.0 की, तो ये OpenGL ES 2.0 पर आधारित है और 3D Graphics के लिए API Provide करता है। WebGL 1.0 HTML5 Canavas Elements का उपयोग करता है और DOM (Document Object Model) Interface का उपयोग करके एक्सेस किया जाता है।

उसके बाद हम बात करें WebGL 2.0 की, तो यह OpenGL ES 3.0 पर Based है और WebGL 1.0 के कई ऑप्शनल एक्सटेंशन्स को उपलब्ध कराता है और नए APIs को Expose करता है।

JavaScript द्वारा Automatic Memory Management Provide किया जाता है।

1 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post